• राष्ट्रीय महिला कृषक दिवस

    15 अक्टूबर 2018 को कृषि विज्ञान केन्द्र चिन्यालीसौड़ में राष्ट्रीय महिला किसान दिवस का अयोजन किया गया। जिसका उददेश्य महिलाओं की कृषि जगत में सक्रिय भागीदारी को बढ़ावा देना था। कृषि विज्ञान केन्द्र चिन्यालीसौड़ द्वारा महिला किसान दिवस में महिला सशक्तिकरण, देश के आर्थिक विकास में महिलाओं का योगदान एवं कृषि उद्योगों में महिलाओं की बहुआयामी भूमिका पर जोर दिया गया। इस अभियान के अन्तर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा पोषाहार वाटिका विषय पर प्रशिक्षण कार्यक्रम, भाषण प्रतियोगिता एवं पोषण सम्बन्धी जानकारी दी गयी। राष्ट्रीय महिला किसान दिवस में केन्द्र के प्रभारी अधिकारी डा. पंकज नौटियाल ने कृषक महिलाओं को गृहपोषण वाटिका का खाका एवं प्रबन्धन के गुर सिखाये एवं महिलाओं को सब्जियों एवं फलों में उपलब्ध पोषक तत्वों की जानकारी से अवगत कराया। गृह विज्ञान विशेषज्ञ, मनीषा आर्या द्वारा राजकीय बालिका इण्टर कालेज की छात्राओं के लिये भाषण प्रतियोगिता का आयोजन करवाया जिसकी थीम “कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भूमिका एवं योगदान” थी। इस प्रतियोगिता में विजेताओं को केन्द्र द्वारा पुरस्कृत भी किया गया। कार्यक्रम के अंत में डा. गौरव पपनै कृषि प्रसार विशेषज्ञ ने संबोधित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण पर विभिन्न  नीतियाँ चलायी जा रही है जिनका लाभार्थी ने लाभ अवश्य लेना चाहिए। गृह विज्ञान विशेषज्ञ, मनीषा आर्या द्वारा पोषण वाटिका किट का भी वितरण किया गया। कार्यक्रम में  कुल 50 से अधिक लोगों ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम में श्री रमेश लाल भी उपस्थित थे ।