• भाकृअनुप-विवेकानन्द पर्वतीय कृषि अनुसधान संस्थान, अल्मोड़ा, कृषि विज्ञान केन्द्र, चिन्यालीसौड़ एवं बागेश्वर में सतर्कता जागरूकता सप्ताह का आयोजन

    भाकृअनुप-विवेकानन्द पर्वतीय कृषि अनुसधान संस्थान, अल्मोड़ा में दिनाँक     29 अक्टूबर-03 नवम्बर, 2018 के मध्य सतर्कता जागरूकता सप्ताह मनाया गया। इस सप्ताह के दौरान संस्थान के अल्मोड़ा स्थित मुख्यालय तथा हवालबाग प्रक्षेत्र में संस्थान के वैज्ञानिक, तकनीकी, प्रशासनिक तथा सहायक वर्ग के कर्मचारियों को भ्रष्टाचार उन्मूलन संबंधी प्रतिज्ञा दिलवाई गयी। इस अवसर पर संस्थान के कार्यकारी निदेशक डा. निर्मल चन्द्रा ने अपने संबोधन में भ्रष्टाचार मुक्त समाज के निर्माण के लिये आर्थिक मूल्यों के प्रति समर्पित रहने के साथ-साथ नैतिक व बौद्धिक मूल्यों के प्रति भी ईमानदारी बरतने की बात कही। उन्होंने कहा कि यदि हम सब अपने-अपने कार्यों को तत्परता और ईमानदारी पूर्वक करें तो इससे भ्रष्टाचार मुक्त समाज का निर्माण होता है। डा. एस0 सी0 पाण्डेय ने अल्मोड़ा में अपने सम्बोधन में सतर्कता जागरूकता सप्ताह मनाये जाने की महत्ता तथा कार्यपद्धति पर प्रकाश डाला। संस्थान के अल्मोड़ा स्थित मुख्यालय तथा हवालबाग प्रक्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर बैनर व पोस्टर लगाए गये।


    संस्थान में सर्तकता जागरूकता सप्ताह के दौरान भ्रष्टाचार उन्मूलन विषय पर निबंध एवं पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें संस्थान के कार्मिकों द्वारा बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया गया। दिनाँक 03 नवम्बर, 2018 को प्रक्षेत्र हवालबाग के सभागार में भ्रष्टाचार उन्मूलन विषय पर वाद प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता मे संस्थान के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने अपने विचार रखे। प्रतियोगिता के प्रतिभागियों को निदेशक महोदय द्वारा पुरस्कृत किया गया।संस्थान के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को संबोधित करते हुए समापन समारोह के दौरान संस्थान के निदेशक डा. अरूणव पट्टनायक ने कहा कि भ्रष्टाचार सुशासन की प्रक्रिया में अति हानिकारक है। कार्य प्रणाली में पारदर्शिता और जवाबदेही की कमी से भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलता है और इससे सुशासन का आधार प्रभावित होता है। हमे भ्रष्टाचार से निपटने के लिए न केवल एक मजबूत ढाँचे की स्थापना पर कार्य करना चाहिए अपितु स्वेच्छित निर्णयों के उन्मूलन, प्रक्रियाओं के सरलीकरण और संगठन के काम काज में पारदर्शिता बढ़ाने पर भी ध्यान देना चाहिए।

     

    कृषि विज्ञान केन्द्र, चिन्यालीसौड़, उत्तरकाशी द्वारा 29 अक्टूबर से 3 नवम्बर, 2018 को सतर्कता जागरूकता सप्ताह के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रमो का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के अंतर्गत केन्द्र के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा सतर्कता शपथ ली गई। कृषकों में सतर्कता जागरूकता हेतु एक बैठक का आयोजन किया गया। क्षेत्र में क्रेन्द्र के अधिकारियों, कर्मचारियों एवं कृषको द्वारा एक जागरूकता रैली का आयोजन भी किया गया । विद्यार्थियों में जागरूकता हेतु एक भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसका विषय ’भ्रष्टचार मिटाओ नया भारत बनाओ‘ था । जिसमे चिन्यालीसौड़ के तीन विद्यालयों से १२ विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया।कार्यक्रम में केन्द्र के प्रभारी डा. पंकज नौटियाल ने कृषकों, विद्यार्थियों एवं सभी प्रतिभागियों से आह्वाहन किया की हमे यह प्राण लेना चाहिए कि ना ही कभी हम भ्रष्टाचार करें और ना ही किसी को करने दें तभी अपना देश नए भारत बनने की ओर अग्रसर हो पायेगा। कार्यक्रम में डा. गौरव पपनै एवं मनीषा आर्या ने विद्यार्थियों को बोलने की कला पर नए गुर बताए।

     

    कृषि विज्ञान केन्द्र बागेश्वर में भ्रष्टाचार के विरुद्ध सतर्कता जागरूकता सप्ताह के अन्तर्गत दिनांक 29.10.2018 को केन्द्र के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा शपथ ली। दिनांक 30.10.2018 को राजकीय पॉलीटेकनीक के 30 छात्र व छात्राओं ने उत्साह के साथ प्रतिभाग कर शपथ ली। इसके अलावा पोस्टर तथा भाषण प्रतियोगिता का आयोजन कर विजेताओं को पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र वितरित किये गये। इन प्रतियोगिताओं में राजकीय इंटर कालेज, काफलीगैर तथा विवेकानन्द उच्चतर माघ्यमिक विद्यालय, काफलीगैर के 60 छात्र व छात्राओं ने प्रतिभाग किया। कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रभारी अधिकारी डा. एन के सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि व्यक्तित्व के विकास में भ्रष्ट आचरण का कोई स्थान नहीं होता है। हम सभी के आचरण एवं कार्य ऐसे होने चाहिए जो अन्य व्यक्ति व समाज के लिए एक उदाहरण बन सके। भ्रष्टाचार रुपी दीमक को व्यक्ति के मानस एवं समाज से मिटाने की आवश्यकता है। वर्तमान के नौनिहालों में जागरूकता व सतर्कता फैलाकर भ्रष्टाचार मुक्त नये भारत का निर्माण किया जा सकता है। डा. कमल कुमार पाण्डे ने कार्यक्रम का संचालन करते हुये कहा कि स्वयं के निश्चय व प्रयासों से भ्रष्टाचार मुक्त भारत बानाया जा सकता है। कार्यक्रम मे राजकीय इंटर कालेज से शिक्षक श्री संजय सिंह जनोटी तथा विवेकानन्द उच्चतर माघ्यमिक विद्यालय से शिक्षक श्री पूरन देवली उपस्थित रहे जिन्होंने इस कार्यक्रम के आयोजन हेतु केन्द्र की सराहना की।