• कृषि विज्ञान केन्द्र चिन्यालीसौड, उत्तरकाशी द्वारा ग्राम बग्यालखेत में अनुसूचित जाति उपयोजना के तहत कृषि यंत्रों का किया गया वितरण

    भाकृअनुप-विवेकानन्द पर्वतीय कृषि अनुसन्धान संस्थान, अल्मोड़ा  के निदेशक डॉ लक्ष्मीकांत के मार्गदर्शन में उत्तरकाशी जिले के विकासखंड डुंडा स्थित ग्राम बग्यालखेत में कृषि विज्ञान केन्द्र चिन्यालीसौड के सहयोग से चलायी जा रही अनुसूचित जाति उपयोजना के तहत कृषि यंत्रों का वितरण किया गया । योजना के तहत कृषकों को संबोधित करते हुए केंद्र के प्रभारी डॉ पंकज नौटियाल ने कहा कि कृषि के विकास के लिये किसानों को वैज्ञानिक तौर तरीकों को अपनाने एवं बढ़ावा देने  पर अमल करना होगा साथ ही उन्होंने कृषि में यंत्रीकरण की आवश्यकता पर जोर देते हुए कृषकों को बताया कि आज के इस दौर में नयी नयी वैज्ञानिक तकनीकों का कृषि कार्यों में समावेश किया जाना जरुरी है जिससे कार्यक्षमता में वृद्धि होने के साथ साथ उत्पादन में भी आशातीत वृद्धि होगी । केंद्र के ही वरुण सुप्याल द्वारा किसानों को उन्नतशील कृषि यंत्रों की कार्यप्रणाली से अवगत कराया गया । उन्होंने कृषकों को कुरमुला कीट के प्रकोप के बारे में एवं इसकी रोकथाम के लिए प्रकाश प्रपंच के उपयोग के बारे में बताया। योजना के तहत कृषकों को प्रकाश प्रपंच, कुदाल, खुरपी, दराती, गार्डन रैक, लाईन मेकर समेत कई छोटे बड़े कृषि यंत्र दिये  गये । कार्यक्रम के अंत में कृषि विज्ञान केन्द्र के विशेषज्ञों द्वारा पॉलीहाउस का  निरीक्षण किया गया व किसानों को आवश्यक तकनीकी जानकारियां दी  । इस अवसर पर 30 से अधिक कृषक उपस्थित रहे ।