प्रसार गतिविधियाँ

संस्थान ने वर्ष 2018-19 के दौरान किसानों एवं कृषि अधिकारियों के लिए 23 प्रशिक्षण एवं  21 भ्रमण का आयोजन किया जिससे 1413 (598 +815) प्रशिक्षणार्थी लाभान्वित हुए

अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन
किसानों के खेत में कदन्न (स्मॉल मिलेट), सोयाबीन, धान, गेहूं एवं मक्का की नई जारी संकर किस्मों के प्रदर्शन का आकलन करने के लिए, 42.1 हेक्टेयर क्षेत्र को कवर करते हुए राज्य भर में अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन (एफएलडी) किए गए जिससे 400 से अधिक किसान लाभान्वित हुए।  

सोयाबीन /भट
खरीफ 2018 के दौरान अल्मोड़ा जिले के ग्राम रौन-डाल में सोयाबीन पर  अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना (एआईसीआरपी) के तहत, खेती के लिए अनुशंसित पैकेज के साथ उन्नत सोयाबीन एवं  काली सोयाबीन किस्मों के अग्रिम पंक्ति प्रदर्शनों का 4.86 हैक्टेयर क्षेत्र में संचालन किया गया जिसमें 111 किसान शामिल थे। प्रदर्शन में, वीएल सोया 59 (1875 किग्रा/है0), वीएल सोया 47 (1907 किग्रा/ है0) एवं  वीएल सोया 77 (1956 किग्रा/है0) एवं वी एल भट 201 (1275 किग्रा/ है0) की पैदावार स्थानीय पारंपरिक किस्मों की तुलना में क्रमशः 29.19, 28.03, 26.03 एवं  50.19 प्रतिशत अधिक पाई गई। लाभ-लागत अनुपात के अनुसार, पहाड़ों पर सोयाबीन (0.74) किस्मों की तुलना में भट (काले सोयाबीन) (0.80) की उन्नत किस्म की खेती को अधिक लाभदायक पाया गया एवं भट (40,122 रुपये) से सोयाबीन (33,251 रुपये) की खेती की तुलना में अधिक आर्थिक लाभ प्राप्त हुआ। परिणामों से यह प्रदर्शित होता है कि काले सोयाबीन (225 किग्रा/है0) की तुलना में सोयाबीन (687 किग्रा/है0) में अधिक प्रौद्योगिकी अंतर (उत्पादकता अंतर I) पाया गया जबकि, विस्तार अंतराल (उत्पादकता अंतर II ) में सोयाबीन (413 किग्रा/है0) ) एवं  काले सोयाबीन (421 किग्रा/है0) की उपज में कोई अधिक अंतर नहीं था । प्रौद्योगिकी सूचकांक के अनुसार, पहाड़ियों में पीली सोयाबीन की उन्नत किस्म (26.44) की तुलना में काले सोयाबीन (भट) (15.0) की उन्नत किस्मों की खेती को अधिक व्यवहार्य पाया गया। 20 सितंबर, 2018 को रौन-डाल गांव में सोयाबीन पर एक प्रक्षेत्र दिवस का आयोजन किया गया, जिसका लाभ 102 किसानों ने उठाया।

            
अल्मोड़ा जिले के रौन-डाल गांव में सोयाबीन पर प्रदर्शन एवं प्रक्षेत्र दिवस की झलकियां

कदन्न (मिलेट्स)
उत्तराखंड के दो जिलों (अल्मोड़ा एवं  नैनीताल) में मंडुवा (वीएल मंडुवा 324, वीएल मंडुवा 352, वीएल मंडुवा 376 एवं  वीएल मंडुवा 379) एवं  मादिरा की दो किस्मों (वीएल मादिरा 172 एवं  वीएल मादिरा 207) का क्रमश:  11 हेक्टेयर एवं  2.02 हेक्टेयर क्षेत्र में चार उन्नत किस्मों का अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन किया गया। खरीफ 2018 के दौरान उच्च उपजशील किस्मों के अग्रिम पंक्ति प्रदर्शनों के परिणाम तालिका 7.3.2 में दिए गए हैं। मंडुवा पर 17 सितंबर, 2018 को अल्मोड़ा के तिपोला गांव में एक प्रक्षेत्र दिवस का आयोजन किया गया जिसमें लगभग 100 किसानों ने सहभागिता की।

कृषकों को बीज वितरण

तिपोला में मंडुवा पर प्रक्षेत्र दिवस

गेहूं 
अल्मोड़ा जिले के 3 गाँवों (सुपाई, बजौली, अमस्यारी) में उन्नत किस्म के वीएल गेहूँ 953 के 8.0 हेक्टेयर क्षेत्र में अग्रपंक्ति प्रदर्शन किया गया जिसका 130 किसानों ने लाभ उगाया। इन क्षेत्रों में, उन्नत किस्म (वी एल गेहूं 907 एवं  वी एल गेहूं 953) ने स्थानीय चैक किस्म पर 40.5 प्रतिशत का उल्लेखनीय उपज-लाभ प्रदर्शित किया। गेहूँ की उन्नत किस्म एवं  स्थानीय चैक किस्म हेतु लागत: लाभ अनुपात 1:1:9 तथा 1:1:6 पाया गया। यह पाया गया कि गेहूं के अग्रपंक्ति कार्यक्रम का मौजूदा स्थानीय किस्मों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा।

            
किसानों के प्रक्षेत्र में गेहूं की उन्नत किस्मों का दृश्य


धान
खरीफ 2018 के दौरान अल्मोड़ा जिले के 3 गांवों के 24 किसानों के बीच 3.7 हेक्टेयर क्षेत्र में वीएल धान 68 की जारी किस्म पर अग्रिम पंक्ति  प्रदर्शन किया गया। स्थानीय चैक किस्मों जैसे ताइचुंग, चाइना 4 एवं थापाचीनी की तुलना में 4,355 किग्रा/है0 की औसत उपज दर्ज की गई, एवं  उन्नत किस्म पर कुल उपज लाभ 31.71 प्रतिशत था। धान की उन्नत किस्मों के प्रति जागरूक करने के लिए इलाके के किसानों हेतु 04 अक्टूबर, 2018 को बारी गाँव में धान पर एक प्रक्षेत्र दिवस भी मनाया गया।
 

प्रक्षेत्र दिवस के दौरान किसानों एवं वैज्ञानिकों के बीच विचार विमर्श एवं फसल का एक दृश्य

मक्का
खरीफ 2018 के दौरान धनपौ-लखवाड़ आदिवासी ग्राम समूह (ब्लॉक कालसी, जिला देहरादून) में 12.5 हैक्टेयर में वीएमएच 45 किस्म का अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शनों में वीएमएच 45 किस्म ने 52.4 क्विन्टल/है0 की औसत उपज दर्ज की, जो धनपौ लोकल (31.6 क्विन्टल//है0 ) से 66.3 प्रतिशत अधिक थी। धनपौ में 15 सितंबर, 2018 को मक्का फील्ड दिवस का आयोजन किया गया। 15 जुलाई, 2018 को धनपौ (देहरादून) में एक मक्का फील्ड दिवस का आयोजन किया गया।

मक्का पर प्रक्षेत्र दिवसों का आयोजन

धनपौ गांव में मक्का उत्पादन

 

कृषि समृद्धि कार्यक्रम

संस्थान द्वारा प्रायोजित कृषि समृद्धि कार्यक्रम को 2009 से किसानों के सूचना-सशक्तिकरण के साधन के रूप में प्रसारित किया जा रहा है, जिसमें संस्थान के विशेषज्ञ किसानों के लिए आकाशवाणी, अल्मोड़ा से पर्वतीय कृषि के विभिन्न पहलुओं पर रेडियो पर वार्ता का प्रसारण करते  हैं। इस कार्यक्रम का प्रसारण हर रविवार शाम 6 बजे ऑल इंडिया रेडियो, अल्मोड़ा, उत्तराखंड से किया जाता है। वर्ष 2018-19 में, खाद्यान्न उत्पादन तकनीकों (19 प्रतिशत), फसल सुरक्षा (15 प्रतिशत), प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन (13 प्रतिशत), आय सृजन से संबंधित पहलुओं (11 प्रतिशत) एवं  बागवानी फसलों की उत्पादन तकनीक से संबंधित जानकारी पर 52 वार्ताओं को रिकार्ड कर उनका प्रसारण किया गया। खेती कार्यों के संबंध में उसके महत्व के अनुसार फसल मौसम में आवष्यकता आधारित विषयों की एक सूची तैयार की जाती है।

कृषक हैल्पलाइन 

यह कार्यक्रम किसानों को कार्य दिवसों में सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक उनके द्वारा पूछे गए प्रष्नों के उत्तर देकर किसानों को एक टोल-फ्री टेलीफोन (1800 180 2311) सेवा प्रदान करता है। किसानों को दी गई सलाह के सामग्री विश्लेषण से पता चलता है कि अधिकांश परामर्श बीज की उपलब्धता (18.5 प्रतिशत), पौध संरक्षण (15.3 प्रतिशत), अन्य संबंधित जानकारी (14.5 प्रतिशत) एवं जल संरक्षण (11.3  प्रतिशत) से संबंधित थी।

किसान मेला
भाकृअनुप-वीपीकेएएस ने प्रयोगात्मक प्रक्षेत्र, हवालबाग में 27 सितंबर, 2018 को बड़े उत्साह से खरीफ किसान मेला का आयोजन किया। श्री नितिन भदौरिया, अल्मोड़ा के जिलाधिकारी इस समारोह के मुख्य अतिथि थे। संस्थान ने 24 फरवरी, 2019 को भाकृअनुप -वीपीकेएएस, अल्मोड़ा में रबी किसान मेला एवं  प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि कार्यक्रम का आयोजन किया। श्री अजय टम्टा, माननीय केंद्रीय कपड़ा राज्यमंत्री एवं  संसद सदस्य इस समारोह के मुख्य अतिथि थे। संस्थान ने अपने परिसर में प्रारंभ किए गए प्रधान मंत्री सम्मान निधि  के सजीव टेलीकॉस्ट की भी व्यवस्था की थी। इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने किसानों के लिए मटर की एक किस्म, विवेक मटर 15  को जारी किया। इस किसान मेला में 500 से अधिक किसानों ने सहभागिता की।

                   


 


 


 

पृष्ठ आखरी अपडेट : 23-11-2020