संस्थान के पूर्व निदेशक डॉ एच.एस. गुप्त ने की कर्मचरियों से शिष्टाचार भेंट

दिनाँक 17.09.2022 को भाकृअनुप-विवेकानन्द पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, अल्मोड़ा के निदेशक डॉ लक्ष्मी कान्त ने संस्थान के पूर्व निदेशक डॉ हरि शंकर गुप्त का पुष्प गुच्छ के साथ स्वागत किया। डॉ एच.एस. गुप्त ने संस्थान के संस्थापक प्रो0 बोसी सेन को नमन करते हुए कर्मचारियों के सम्मुख अपने अनुभवों को साझा किया तथा साथ ही कर्मचारियों को पूर्ण निष्ठा व ईमानदारी के साथ कार्य करने हेतु प्रेरित किया। संस्थान प्रत्येक वर्ष 4 जुलाई को स्थापना दिवस के अवसर पर अपने कार्मिकों को पुरस्कृत करता आ रहा है। किन्तु कोविड- 19 के दिशा-निर्देशों के चलते कार्मिकों को व्यक्तिगत रूप से सम्मानित नहीं किया जा सका था। 

 

इस अवसर पर डॉ एच.एस. गुप्त ने संस्थान में कार्यरत सहायक मुख्य तकनीकी अधिकारी श्री संजय कुमार, वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी श्री दयाशंकर, तकनीकी अधिकारी श्रीमती रेनू सनवाल, वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी, मनोज भट्ट, व्यैक्तिक सहायक, श्री चारू चन्द्र जोशी, अपर श्रेणी लिपिक श्री अभिनव सिंह एवं तकनीशियन श्री हरीश पाण्डे को उनके उत्कृष्ट कार्य हेतु सम्मानित किया गया। साथ ही संस्थान में कार्यरत वैज्ञानिक डॉ श्यामनाथ, कृषि विज्ञान केन्द्र, बागेश्वर में कार्यरत् सहायक मुख्य तकनीकी अधिकारी, डॉ कमल कुमार पाण्डे, सीएलटीएस श्री राजेन्द्र सिंह कनवाल, विभिन्न शोध परियोजनाओं में कार्यरत् डॉ हेमलता जोशी, कुमारी ममता जोशी, फैज़ा शाहिद, श्री रोहित कपिल को भी सम्मानित किया गया। साथ ही 2021-22 वर्ष में सेवानिवृत्त हो रहे कार्मिकों श्री बी सी पाण्डे, श्री कृष्ण लाल, श्री प्रहलाद सिंह ,एवं श्री उमेद सिंह को लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर संस्थान के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का समन्वयन प्रभागाध्यक्ष, फसल उत्पादन विभाग डॉ0 जे0 के0 बिष्ट द्वारा किया गया तथा धन्यवाद प्रस्ताव प्रभागाध्यक्ष, फसल सुधार विभाग डॉ के. के. मिश्रा द्वारा ज्ञापित किया गया।